Dhangar Caste: धनगर किस जाति में आते हैं?

Dhangar Caste: धनगर उत्तर भारत और मध्य भारत में पाए जाने वाले एक पशुपालक जाति है, इनको मुख्य रूप से चारवाहा और बुनकर कहा जाता है इनका पारंपरिक काम गाय, भैंस, भेड़, बकरियों को पालना और दूध का व्यवसाय करना रहा है.

धनगर शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई?

धनगर शब्द की उत्पत्ति भेड़ बकरियों से मानी जाती है धनगर शब्द संस्कृत के धन शब्द से बना है, जिसका अर्थ है पशु धन.

धनगर किस कैटेगरी में आते हैं?

आरक्षण प्रणाली के अंतर्गत धनगर अनुसूचित जनजाति/अनुसूचित जाति कैटेगरी में आते हैं, कुछ राज्यों में इन्हें अति पिछड़ा वर्ग कैटेगरी में भी शामिल किया गया है.

धनगर समाज की आबादी किस राज्य में पाई जाती है?

धनगर समाज की आबादी विशेष रूप से मध्य भारत और उत्तर भारत में फैली हुई पाई जाती है खासतौर पर उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में.

FAQ

धनगर समाज का एक हिस्सा अपने उत्पत्ति राजपूतों से क्यों मानता है?

इसका मुख्य कारण उस समय समाज में स्थापित याज्ञवल्क्य स्मृति के विधान है- अनुलोम विवाह (यदि ऊंचे वर्ण का पुरुष अपने से निम्न वर्ण की कन्या से विवाह करता था तो उत्पन्न संतान की जाति माता की जाति से निर्धारित होती थी ना कि पिता की जाति से), इस स्थिति में उसके अगले वंशजों द्वारा एक नए वंश का प्रचलन हो जाता था.

क्या धनगर क्षत्रिय होते हैं?

धनगर समाज में एक समूह ऐसा भी है जो अपने आप को क्षत्रिय मानता है वह अपनी उत्पत्ति राजपूतों से मानते हैं.

क्या धनगर मराठा होते हैं?

पश्चिमी महाराष्ट्र के सभी धनगर (जैसे होल्कर) को “मराठा” कहा जा सकता है, लेकिन सभी धनगर मराठा नहीं हैं।

धनगर समुदाय किस जाति में आता है?

आरक्षण प्रणाली के अंतर्गत धनगर अति पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जनजाति/अनुसूचित जाति में आते हैं.

क्या धनगर उपाधि है?

हां, धनगर भारत मे भिन्न भिन्न पशुपालक समुदायों के लिए उपयोग में लाया जाने वाली उपाधि है.

यह जानकारी हमने विभिन्न स्रोतों से इकट्ठे की है और हमने पुख्ता जानकारी आप तक पहुंचाने की पूरी कोशिश की है अगर आप कोई हमें सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके सुझाव दे सकते हैं और अगर आपको हमारी जानकारी पसंद आई हो तो इस जानकारी को आगे शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले।

Leave a Comment