Rastogi Caste : रस्तोगी किस जाति में आते हैं?

Rastogi Caste: रस्तोगी उपनाम हिंदुस्तान के अंदर 3 समुदाय द्वारा उपयोग किया जाता है एक सुनार का समूह है दूसरा बनियों का और तीसरा क्षत्रियों का

रस्तोगी (क्षत्रिय राजपूत) को मुस्लिम आक्रांताओं का कट्टर दुश्मन माना जाता था, इन्होंने कभी किसी शासक के सामने आत्मसमर्पण नहीं किया और हमेशा युद्ध के मैदान में क्षत्रिय धर्म का पालन किया विजय या वीरगति।

आज के समय में रस्तोगी 3 समुदाय द्वारा उपयोग किया जाता है सुनार, बनिया और क्षत्रिय. हालांकि तीनों समुदाय शीर्षक के उपनाम को स्वीकार करते हैं लेकिन तीनों यह स्वीकार नहीं करते कि वे एक ही समुदाय हैं.

रस्तोगी वंश कहां से शुरू हुआ?

रस्तोगी, रुस्तगी, रोहतगी सूर्यवंश वंश और महाराजा हरिश्चंद्र के वंश से हैं, जिनका नाम महाराजा हरिश्चंद्र के पुत्र रोहितश्व के नाम पर रखा गया है (नाम रोहतास से लिया गया है, रोहित का अर्थ है सूर्य, आस का अर्थ वंश)।

रस्तोगी किस कैटेगरी में आते हैं?

आरक्षण प्रणाली के अंतर्गत क्षत्रिय और बनिए रस्तोगी जनरल कैटेगरी में आते हैं और कुछ रस्तोगी जो सुनार होते हैं वह ओबीसी वर्ग में आते हैं.

रस्तोगी की आबादी किस क्षेत्र में है?

रस्तोगी की आबादी विशेष रूप से उत्तर भारत और मध्य भारत में फैली हुई पाई जाती है.

Rastogi FAQ

रस्तोगी किस जाति में आते हैं?

रस्तोगी उपनाम का प्रयोग भारत में 3 विभिन्न समुदाय करते हैं क्षत्रिय, बनिए और सुनार. अधिकतम रस्तोगी अपने आप को क्षत्रिय या फिर बनिया बताते हैं.

क्या रस्तोगी राजपूत होते हैं?

रस्तोगी समुदाय में एक समूह ऐसा भी है जो अपने आप को राजपूत मानता है.

रस्तोगी की आबादी किस राज्य में पाई जाती है?

रस्तोगी की आबादी विशेष रूप से उत्तर भारत और मध्य भारत में फैली हुई पाई जाती है.

यह जानकारी हमने विभिन्न स्रोतों से इकट्ठे की है और हमने पुख्ता जानकारी आप तक पहुंचाने की पूरी कोशिश की है अगर आप कोई हमें सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके सुझाव दे सकते हैं और अगर आपको हमारी जानकारी पसंद आई हो तो इस जानकारी को आगे शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले।

Leave a Comment